How to Stop Hair Fall Naturally at Home in Hindi

  • Author 
Spread the love

बाल गिरने बंद करने के लिए शीर्ष 10 प्राकृतिक आयुर्वेदिक तरीके

बाल हर व्यक्ति की सुन्दरता होते है। अफसोस की बात है, बाल सबसे पहला तत्व होते है जो की शरीर के कई कारणों की वजह से प्रभावित हो जाते है। ऐसे कई कारण होते है जो बालो को कमजोर बनाकर गिरने पर मजबूर कर देता हैं। बदलता मौसम भी हमारे शरीर में परिवर्तन का कारण बनता है और बालो का विकास करता है। यहाँ तक कि वातावरण में एक मामूली बदलाव भी, हमारे बाल गिरने शुरू कर सकता है, या उन्हें सूखा या तेली बना देता हैं। यह समस्या प्रदूषण की वजह से होती है। धूल, धुएं और प्रदूषण की वजह से गंदगी बालों के रोम को कमजोर कर देती है और बालों की मात्रा कम हो जाती है। ज्यादातर महिलाओं और पुरुष आजकल बाल गिरने की समस्या की वजह से परेशान हैं। हालांकि कई शैंपू और बाल उत्पादक बाजार में है जो इस समस्या को हल करने का दावा करते है लेकिन कुछ भी पुराने प्राकृतिक उपचार की तुलना में बेहतर काम नही करता। यहाँ पर कुछ आयुर्वेदिक सुझाव दिए गये है जो की बाल गिरावट को कम और रोकने मे मदद करते हैं:

1. बाल विकास बढ़ाने के लिए, पालक, गाजर, सलाद और अल्फ्लो के ताजा रस का प्रयोग करे। नियमित आधार पर इन रस का सेवन करने से बाल मजबूत और सुंदर बन जाते है। इतना ही नहीं यह रस शरीर के लिए भी लाभदायक होते है।

2. तिल के बीज मैग्नीशियम और कैल्शियम की एक समृद्ध स्रोत होते है, जो बाल गिरावट को रोकने में प्रभावी होते हैं। तिल (सफेद) के बीज का एक चम्मच प्रभावी परिणाम के लिए हर सुबह खाए।

3. फाइबर भी बाल गिरावट को नियंत्रित करने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इस प्रकार, बाल गिरावट को रोकने में अच्छे परिणाम के लिए अपने आहार में हरी पत्तेदार सब्जियों और फलों को शामिल हैं।

4. बदलते मौसम से शरीर में जहरीले पदार्थ पैदा होते हैं। यह विषैले पदार्थ भी बाल गिरने का कारण होते है। यह बालों के विकास को बढ़ाने मे और शरीर के विषैले तत्वों को खत्म करने के लिए बहुत ही लाभदायक होते है। इसके लिए बहुत सारा पानी पीया करे।

5. बाल विकास को बढ़ावा देने के लिए, सेब का सिरका बहुत ही प्रभावशाली होता है। बालो का विकास करने के लिए, हर रात सोने से पहले एक चम्मच सेब का सिरका पी ले। सेब का सिरका एक ऐसा सूत्र है जो हर प्रकार के बालों के लिए काम करता है।

6. रीठा(साबुन अखरोट) एक घटक है जो पुराने समय की महिलाऐ इस्तेमाल किया करती थी जब शैम्पू नहीं होते थे। यह बालों को सुन्दर और घना करता है। रीठा को रात भर भिगोने के बाद ही बालों पर लगाये। अच्छे परिणाम के लिए एक सप्ताह में एक बार इसका प्रयोग उचित है।

7. आवंला बालों के उपचार में लोकप्रिय होता है। यह आज भी बाल उत्पादों में इस्तेमाल किया जाता है। यह विटामिन सी का एक समृद्ध वाहक है और बालों के लिए प्राकृतिक कंडीशनर के रूप में कार्य करता है। विटामिन सी बालों के लिए बहुत जरूरी है और इस आयुर्वेदिक उपाय से बालो को विटामिन सी मिलता है।

8. अंकुरित, छाछ, दूध, खमीर, सोया और साबुत अनाज जिंक, विटामिन सी, बी कॉम्प्लेक्स, सल्फर और फैटी एसिड से भरपूर होता है, जो बालों के विकास के लिए महत्वपूर्ण होते हैं। अपने आहार में इन्हें शामिल करना बहुत प्रभावी हो सकता है।

9. नीम त्वचा और बालों के उत्पादों मे महत्वपूर्ण माना जाता है। इसमें ऐसे गुण होते है जो सिर में रक्त के प्रवाह में वृद्धि से खुजली, सूजन और सूखापन कम कर देता है। रक्त परिसंचरण बालों की जड़ों को मजबूत बनाने का काम करता है, जिससे बाल गिरने बंद हो जाते है। बालों और त्वचा के लिए सबसे अच्छा आयुर्वेदिक उपचार से एक नीम माना जाता है।

10. मेथी के बीज बालो का गिरना कम करने मे और रोकने के लिए प्रभावी होते हैं। मेथी के बीज पीसकर उसे बालो और सिर पर लगा ले। या फिर इसे नारियल के तेल या दही मे मिलाकर लगाये। 20 मिनट के बाद धो लें। यह बालों के विकास को बढ़ावा देगा और आपके बालो को घना करेगा।

Watch Video – बालों का गिरना रोकने के लिए घरेलू उपचार – Home Remedy for Hair Fall in Hindi